Be honest. What do you make ?

Be honest. What do you make ?

Vote up smileyx5
Score: 11 Votes: 11
Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134

👌

Dedicated to all the Teachers

From A School Principal’s speech at a graduation……

He said "The Doctor wants his child to become a doctor…
the Engineer wants his child to become an engineer…
The Businessman wants his ward to become CEO

BUT a teacher also wants his child to become one of them, as well..!!
Nobody wants to become a teacher BY CHOICE"…

Very sad but that’s the truth..!!

The Dinner Guests Were Sitting Around The Table Discussing Life.

One Man, a CEO, Decided to Explain the Problem with Education.
He argued, “What’s a kid going to learn from someone who decided his best option in life was to become only a teacher?”

To stress his point he said to another guest;

“You’re a teacher, Mrs Sharma. Be honest. What do you make?”

Teacher Mrs Sharma, who had a reputation for honesty and frankness replied, "You want to know what I make?
(She paused for a second, then began…)

“Well, I make kids work harder than they ever thought they could.

I make a C+ feel like the Congressional Medal of Honor winner.

I make kids sit through 40 minutes of class time when their parents can’t make them sit for 5 min. without an I- Pod, Game Cube or movie rental.

You want to know what I make?

(She paused again and looked at each and every person at the table)

I make kids wonder.

I make them question.

I make them apologize and mean it.

I make them have respect and take responsibility for their actions.

I teach them how to write and then I make them write.
Keyboarding isn’t everything.

I make them read, read, read.

I make them show all their work in math.

They use their God given brain, not the man-made calculator.

I make my students from other countries learn everything they need to
know about India while preserving their unique cultural identity.

I make my classroom a place where all my students feel safe.

Finally, I make them understand that if they use the gifts they were
given, work hard, and follow their hearts, they can succeed in life.

(Mrs Sharma paused one last time and then continued.)

Then, when people try to judge me by what I make, with me knowing
money isn’t everything, I can hold my head up high and pay no attention because they are ignorant.

You want to know what I make?

I MAKE A DIFFERENCE IN ALL YOUR LIVES, EDUCATING KIDS AND PREPARING THEM TO BECOME CEO’s, AND DOCTORS AND ENGINEERS

What do you make Mr. CEO? Only money?

His jaw dropped; he went silent.

Actually very worth sending again & again – especially to those from other professions who think they are above teachers

BE A TEACHER

WHERE IT NOT FOR THE TEACHER, WOULD WE BE WHAT WE ARE
BE THANKFUL & APPRECIATE THETEACHERWHO MADE US WHAT WE’RE TODAY
😇

172 Comments  |  
11 Dimers
 20170305 121502
Deal Subedar
0
58
2136
32

सरकारी टीचर का नहीं सुना क्या
सब सरकारी टीचर बनना चाहते हैं प्राइवेट वाले नहीं

 20170305 121502
Deal Subedar
0
58
2136
32

व्हाट डू यू मेक का क्या मतलब है
रात को 12:00 बजे क्या उम्मीद कर रहे हो लोगों से वह क्या बनाए

Fb img 1491924337304
Deal Cadet
0
55
128
5

Too long,didn’t have the courage to read

Leicester city v liverpool
Deal Subedar
2
199
2185
27
Rock-star wrote:

Too long,didn’t have the courage to read

same here …. https://cdn3.desidime.com/assets/textile-editor/icon_lol.gif

Avatar
Deal Subedar
0
71
1488
23

even guys without schooling are ceo of big companies, now also possible but that need a hard work and dedication https://cdn1.desidime.com/assets/textile-editor/icon_smile.gif

now a days kids are more smarter than teacher, but teachers are not ready to improve with technologies and more friendly.

Fb img 1491924337304
Deal Cadet
0
55
128
5
desibuddy wrote:

even guys without schooling are ceo of big companies, now also possible but that need a hard work and dedication https://cdn1.desidime.com/assets/textile-editor/icon_smile.gif

now a days kids are more smarter than teacher, but teachers are not ready to improve with technologies and more friendly.

Chaaro taraf Gyan bant Raha hai

Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134

It was early morning at the military base, and the first sergeant was calling out names for the daily work parties listed on a piece of paper:

“Ames”

“Here!”

“Jenson”

“Here!”

“Jones”

“Here!”

“Magersky”

“Here!”

“Seeback”

No answer.

“Seeback!”

No answer was heard again.

SEEBACK!!!”

The troops remained totally silent.

At that point, someone whispered into the first sergeant’s ear. He looked again at what the last name really said, quickly turned over the list and continued calling the names printed on the other side. 😄😄

Missing
Deal Cadet
0
51
398
3
Alpha.Barood wrote:

It was early morning at the military base, and the first sergeant was calling out names for the daily work parties listed on a piece of paper:

“Ames”

“Here!”

“Jenson”

“Here!”

“Jones”

“Here!”

“Magersky”

“Here!”

“Seeback”

No answer.

“Seeback!”

No answer was heard again.

SEEBACK!!!”

The troops remained totally silent.

At that point, someone whispered into the first sergeant’s ear. He looked again at what the last name really said, quickly turned over the list and continued calling the names printed on the other side. 😄😄

Hope next time it’ll not be..
pto
(no answer)
pto
(no answer again)
P.T.O….. https://cdn3.desidime.com/assets/textile-editor/icon_lol.gif

Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134
Expand
dosa wrote:

Hope next time it’ll not be..
pto
(no answer)
pto
(no answer again)
P.T.O….. https://cdn3.desidime.com/assets/textile-editor/icon_lol.gif

Including dosa sambhar!

Missing
Deal Cadet
0
51
398
3
Expand
Alpha.Barood wrote:

Including dosa sambhar!

Ab baarood bhai, paper pe toh end mein dosa sambhar ni likha hota!
Ps:kisi ko uske naam se chidaana acchi baat ni https://cdn2.desidime.com/assets/textile-editor/icon_rolleyes.gif

Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134

Fluid rules
- Unmesh Sharma

It is an exceptionally hot summer. Time for a beer. I went to the local alcohol shop.
“Give me two bottles of chilled beer please” I said to the shopkeeper.
“Sorry sir. Dry Day. Birthday of River Ganges”.
Yes. Rivers have birthdays now. I went back the next day. “Can I have the beer now?”
He handed me two bottles. I was on my way back home. The police stopped me looking awfully serious.
“Sir. We have received intelligence that you have alcohol in your car” the police inspector said.
“Yes. But I did not consume any before I started to drive”.
“That does not matter. You are now holding a bottle within 5 km of the river Narmada. Get out of your car”.
I got out. Another constable came and murmured something into the inspector’s ears.
“Sorry sir. You can go”.
I was surprised and asked him why.
“We have just been informed that due to scanty rainfall, the river boundary has shifted around 5 meters. You are in the safe zone”.
“Phew. Thanks sir. I will go straight home and drink only there”.
“OK. Please don’t drive by MG Road. We have another check-post there. That is within 500 meters of a school. Don’t take Rajiv Chowk either. That is within 200 meters of a place of worship. You can get caught”.
“OK. So what should I do now?”
“Take SV Road for now. Also go home and download the beta version of the ‘Google Maps’ app. They now have ‘Tipple routes’. Red for traffic jam, Blue for smooth, Yellow for slow moving and Brown for the No Alcohol ‘Dry’ zone. These are now updated on a real time basis”.
I reached home and opened my bottle. Suddenly the bell rang. It was the police again.
“Now what?”
“Sir. We have received intelligence that you have alcohol in your house”.
“Yes. But I am not within 500 meters of anything and the Ganges, Narmada, Kaveri, Indus, even the bloody Mithi River is more than 5 km away”.
“Sir. Rules are rules. We have to check if you are old enough.”
I showed him my PAN card.
“Sorry sir. This won’t work. There are too many fake IDs out there. Did you know there were 4 lakh fake students in schools in UP. Please place your hand on this machine so that we can authenticate. It is all biometric now”.
I placed my right thumb on the sensor. A red light started to flash.
“Sorry sir. We will have to confiscate your beer!”
“Now what? I have complied with all the rules” I protested.
“Sir. Fresh rule was formed yesterday. Mars is in the fifth house of your Almanac. We cannot sell alcohol to anyone whose Mars is weighing on his Rahu in the fourth house”.
“How the hell do you know that?”
“Sir UID. Your ‘kundli’ is now linked to your Aadhaar card”.

@dosa
@Plato
@Navneet
@Achilles

Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134

कुछ घरेलू नुस्ख़े

गुज़ारिश है आप भी इन्हें आजमाइए

1- यदि आपकी चाय फीकी बन गई हो तो उसमें थोड़ी चीनी और डाल दें, चाय तुरन्त मीठी हो जायेगी।

2- नहाने के लिए यदि पानी का प्रयोग किया जाय तो स्नान काफी अच्छा हो जायेगा।

3- पूड़ी बनाने के पहले यदि आटे की लोई को पूड़ी की तरह बेल कर तल लिया जाय, तो पूड़ी स्वादिष्ट बनेगी।

4- यदि आप पैसे की परेशानी से परेशान है तो अपने बैंक से पैसे निकाल लें, आपकी परेशानी दूर हो जायेगी।

5- यदि आपको रहने की समस्या है, तो एक अच्छा सा मकान बनवा कर तुरन्त रहना शुरु कर दें, समस्या का समाधान शतप्रतिशत हो जायेगा।

6- यदि आपके गैस का चूल्हा, गैस ख़तम हो जाने की वजह से बुझ गया हो तो तुरन्त एक गैस का भरा सिलण्डर लगा दें, चूल्हा जलने लगेगा।

7- यदि आपकी मोटरसाइकिल पेट्रोल ख़तम हो जाने के कारण रास्ते में अचानक बंद हो जाती है तो कतई परेशान ना हों, अगले पेट्रोल पम्प तक घसीट कर ले जाएं और पेट्रोल भरा लें, मोटरसाइकिल तुरंत स्टार्ट हो जाएगी।

इस में से कुछ नुस्ख़े मैंने खुद आज़माये है, शतप्रतिशत सही पाया।

ऐसे और भी बहुत आईडियाज़ हैं मेरे दिमाग़ में, मदद के लिए याद करें

Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134

कुछ घरेलू नुस्ख़े

गुज़ारिश है आप भी इन्हें आजमाइए

1- यदि आपकी चाय फीकी बन गई हो तो उसमें थोड़ी चीनी और डाल दें, चाय तुरन्त मीठी हो जायेगी।

2- नहाने के लिए यदि पानी का प्रयोग किया जाय तो स्नान काफी अच्छा हो जायेगा।

3- पूड़ी बनाने के पहले यदि आटे की लोई को पूड़ी की तरह बेल कर तल लिया जाय, तो पूड़ी स्वादिष्ट बनेगी।

4- यदि आप पैसे की परेशानी से परेशान है तो अपने बैंक से पैसे निकाल लें, आपकी परेशानी दूर हो जायेगी।

5- यदि आपको रहने की समस्या है, तो एक अच्छा सा मकान बनवा कर तुरन्त रहना शुरु कर दें, समस्या का समाधान शतप्रतिशत हो जायेगा।

6- यदि आपके गैस का चूल्हा, गैस ख़तम हो जाने की वजह से बुझ गया हो तो तुरन्त एक गैस का भरा सिलण्डर लगा दें, चूल्हा जलने लगेगा।

7- यदि आपकी मोटरसाइकिल पेट्रोल ख़तम हो जाने के कारण रास्ते में अचानक बंद हो जाती है तो कतई परेशान ना हों, अगले पेट्रोल पम्प तक घसीट कर ले जाएं और पेट्रोल भरा लें, मोटरसाइकिल तुरंत स्टार्ट हो जाएगी।

इस में से कुछ नुस्ख़े मैंने खुद आज़माये है, शतप्रतिशत सही पाया।

ऐसे और भी बहुत आईडियाज़ हैं मेरे दिमाग़ में, मदद के लिए याद करें

Draw
Deal Colonel
10
1,184
56622
1134

तलाक स्पेशल : जरूर पड़े

रविवार को फुरसत से…..
तब मैं जनसत्ता में नौकरी करता था। एक दिन खबर आई कि एक आदमी ने झगड़ा के बाद अपनी पत्नी की हत्या कर दी। मैंने खब़र में हेडिंग लगाई कि पति ने अपनी बीवी को मार डाला। खबर छप गई। किसी को आपत्ति नहीं थी। पर शाम को दफ्तर से घर के लिए निकलते हुए प्रधान संपादक प्रभाष जोशी जी सीढ़ी के पास मिल गए। मैंने उन्हें नमस्कार किया तो कहने लगे कि संजय जी, पति की बीवी नहीं होती।

“पति की बीवी नहीं होती?” मैं चौंका था।

“बीवी तो शौहर की होती है, मियां की होती है। पति की तो पत्नी होती है।”

भाषा के मामले में प्रभाष जी के सामने मेरा टिकना मुमकिन नहीं था। हालांकि मैं कहना चाह रहा था कि भाव तो साफ है न ? बीवी कहें या पत्नी या फिर वाइफ, सब एक ही तो हैं। लेकिन मेरे कहने से पहले ही उन्होंने मुझसे कहा कि भाव अपनी जगह है, शब्द अपनी जगह। कुछ शब्द कुछ जगहों के लिए बने ही नहीं होते, ऐसे में शब्दों का घालमेल गड़बड़ी पैदा करता है।

प्रभाष जी आमतौर पर उपसंपादकों से लंबी बातें नहीं किया करते थे। लेकिन उस दिन उन्होंने मुझे टोका था और तब से मेरे मन में ये बात बैठ गई थी कि शब्द बहुत सोच समझ कर गढ़े गए होते हैं।

खैर, आज मैं भाषा की कक्षा लगाने नहीं आया। आज मैं रिश्तों के एक अलग अध्याय को जीने के लिए आपके पास आया हूं। लेकिन इसके लिए आपको मेरे साथ निधि के पास चलना होगा।

निधि मेरी दोस्त है। कल उसने मुझे फोन करके अपने घर बुलाया था। फोन पर उसकी आवाज़ से मेरे मन में खटका हो चुका था कि कुछ न कुछ गड़बड़ है। मैं शाम को उसके घर पहुंचा। उसने चाय बनाई और मुझसे बात करने लगी। पहले तो इधर-उधर की बातें हुईं, फिर उसने कहना शुरू कर दिया कि नितिन से उसकी नहीं बन रही और उसने उसे तलाक देने का फैसला कर लिया है।

मैंने पूछा कि नितिन कहां है, तो उसने कहा कि अभी कहीं गए हैं, बता कर नहीं गए। उसने कहा कि बात-बात पर झगड़ा होता है और अब ये झगड़ा बहुत बढ़ गया है। ऐसे में अब एक ही रास्ता बचा है कि अलग हो जाएं, तलाक ले लें।
मैं चुपचाप बैठा रहा।

निधि जब काफी देर बोल चुकी तो मैंने उससे कहा कि तुम नितिन को फोन करो और घर बुलाओ, कहो कि संजय सिन्हा आए हैं।

निधि ने कहा कि उनकी तो बातचीत नहीं होती, फिर वो फोन कैसे करे?

अज़ीब संकट था। निधि को मैं बहुत पहले से जानता हूं। मैं जानता हूं कि नितिन से शादी करने के लिए उसने घर में कितना संघर्ष किया था। बहुत मुश्किल से दोनों के घर वाले राज़ी हुए थे, फिर धूमधाम से शादी हुई थी। ढेर सारी रस्म पूरी की गईं थीं। ऐसा लगता था कि ये जोड़ी ऊपर से बन कर आई है। पर शादी के कुछ ही साल बाद दोनों के बीच झगड़े होने लगे। दोनों एक-दूसरे को खरी-खोटी सुनाने लगे। और आज उसी का नतीज़ा था कि संजय सिन्हा निधि के सामने बैठे थे, उनके बीच के टूटते रिश्तों को बचाने के लिए।

खैर, निधि ने फोन नहीं किया। मैंने ही फोन किया और पूछा कि तुम कहां हो ? मैं तुम्हारे घर पर हूं, आ जाओ। नितिन पहले तो आनाकानी करता रहा, पर वो जल्दी ही मान गया और घर चला आया।

अब दोनों के चेहरों पर तनातनी साफ नज़र आ रही थी। ऐसा लग रहा था कि कभी दो जिस्म-एक जान कहे जाने वाले ये पति-पत्नी आंखों ही आंखों में एक दूसरे की जान ले लेंगे। दोनों के बीच कई दिनों से बातचीत नहीं हुई थी।
नितिन मेरे सामने बैठा था। मैंने उससे कहा कि सुना है कि तुम निधि से तलाक लेना चाहते हो?

उसने कहा, “हां, बिल्कुल सही सुना है। अब हम साथ नहीं रह सकते।”

मैंने कहा कि तुम चाहो तो अलग रह सकते हो। पर तलाक नहीं ले सकते।

“क्यों?”

“क्योंकि तुमने निकाह तो किया ही नहीं है।”

“अरे यार, हमने शादी तो की है।”

“हां, शादी की है। शादी में पति-पत्नी के बीच इस तरह अलग होने का कोई प्रावधान नहीं है। अगर तुमने मैरिज़ की होती तो तुम डाइवोर्स ले सकते थे। अगर तुमने निकाह किया होता तो तुम तलाक ले सकते थे। लेकिन क्योंकि तुमने शादी की है, इसका मतलब ये हुआ कि हिंदू धर्म और हिंदी में कहीं भी पति-पत्नी के एक हो जाने के बाद अलग होने का कोई प्रावधान है ही नहीं।”

मैंने इतनी-सी बात पूरी गंभीरता से कही थी, पर दोनों हंस पड़े थे। दोनों को साथ-साथ हंसते देख कर मुझे बहुत खुशी हुई थी। मैंने समझ लिया था कि रिश्तों पर पड़ी बर्फ अब पिघलने लगी है। वो हंसे, लेकिन मैं गंभीर बना रहा।

मैंने फिर निधि से पूछा कि ये तुम्हारे कौन हैं?

निधि ने नज़रे झुका कर कहा कि पति हैं। मैंने यही सवाल नितिन से किया कि ये तुम्हारी कौन हैं? उसने भी नज़रें इधर-उधर घुमाते हुए कहा कि बीवी हैं।

मैंने तुरंत टोका। ये तुम्हारी बीवी नहीं हैं। ये तुम्हारी बीवी इसलिए नहीं हैं क्योंकि तुम इनके शौहर नहीं। तुम इनके शौहर नहीं, क्योंकि तुमने इनसे साथ निकाह नहीं किया। तुमने शादी की है। शादी के बाद ये तुम्हारी पत्नी हुईं। हमारे यहां जोड़ी ऊपर से बन कर आती है। तुम भले सोचो कि शादी तुमने की है, पर ये सत्य नहीं है। तुम शादी का एलबम निकाल कर लाओ, मैं सबकुछ अभी इसी वक्त साबित कर दूंगा।

बात अलग दिशा में चल पड़ी थी। मेरे एक-दो बार कहने के बाद निधि शादी का एलबम निकाल लाई। अब तक माहौल थोड़ा ठंडा हो चुका था, एलबम लाते हुए उसने कहा कि कॉफी बना कर लाती हूं।

मैंने कहा कि अभी बैठो, इन तस्वीरों को देखो। कई तस्वीरों को देखते हुए मेरी निगाह एक तस्वीर पर गई जहां निधि और नितिन शादी के जोड़े में बैठे थे और पांव पूजन की रस्म चल रही थी। मैंने वो तस्वीर एलबम से निकाली और उनसे कहा कि इस तस्वीर को गौर से देखो।

उन्होंने तस्वीर देखी और साथ-साथ पूछ बैठे कि इसमें खास क्या है?

मैंने कहा कि ये पैर पूजन का रस्म है। तुम दोनों इन सभी लोगों से छोटे हो, जो तुम्हारे पांव छू रहे हैं।

“हां तो?”

“ये एक रस्म है। ऐसी रस्म संसार के किसी धर्म में नहीं होती जहां छोटों के पांव बड़े छूते हों। लेकिन हमारे यहां शादी को ईश्वरीय विधान माना गया है, इसलिए ऐसा माना जाता है कि शादी के दिन पति-पत्नी दोनों विष्णु और लक्ष्मी के रूप हो जाते हैं। दोनों के भीतर ईश्वर का निवास हो जाता है। अब तुम दोनों खुद सोचो कि क्या हज़ारों-लाखों साल से विष्णु और लक्ष्मी कभी अलग हुए हैं? दोनों के बीच कभी झिकझिक हुई भी हो तो क्या कभी तुम सोच सकते हो कि दोनों अलग हो जाएंगे? नहीं होंगे। हमारे यहां इस रिश्ते में ये प्रावधान है ही नहीं। तलाक शब्द हमारा नहीं है। डाइवोर्स शब्द भी हमारा नहीं है।

यहीं दोनों से मैंने ये भी पूछा कि बताओ कि हिंदी में तलाक को क्या कहते हैं?

दोनों मेरी ओर देखने लगे। उनके पास कोई जवाब था ही नहीं। फिर मैंने ही कहा कि दरअसल हिंदी में तलाक का कोई विकल्प नहीं। हमारे यहां तो ऐसा माना जाता है कि एक बार एक हो गए तो कई जन्मों के लिए एक हो गए। तो प्लीज़ जो हो ही नहीं सकता, उसे करने की कोशिश भी मत करो। या फिर पहले एक दूसरे से निकाह कर लो, फिर तलाक ले लेना।”

अब तक रिश्तों पर जमी बर्फ काफी पिघल चुकी थी।
निधि चुपचाप मेरी बातें सुन रही थी। फिर उसने कहा कि

भैया, मैं कॉफी लेकर आती हूं।

वो कॉफी लाने गई, मैंने नितिन से बातें शुरू कर दीं। बहुत जल्दी पता चल गया कि बहुत ही छोटी-छोटी बातें हैं, बहुत ही छोटी-छोटी इच्छाएं हैं, जिनकी वज़ह से झगड़े हो रहे हैं।

खैर, कॉफी आई। मैंने एक चम्मच चीनी अपने कप में डाली। नितिन के कप में चीनी डाल ही रहा था कि निधि ने रोक लिया, “भैया इन्हें शुगर है। चीनी नहीं लेंगे।”

लो जी, घंटा भर पहले ये इनसे अलग होने की सोच रही थीं और अब इनके स्वास्थ्य की सोच रही हैं।
मैं हंस पड़ा। मुझे हंसते देख निधि थोड़ा झेंपी। कॉफी पी कर मैंने कहा कि अब तुम लोग अलगे हफ़्ते निकाह कर लो, फिर तलाक में मैं तुम दोनों की मदद करूंगा।
जब तक निकाह नहीं कर लेते तब तक “हम्मा-हम्मा-हम्मा, एक हो गए हम और तुम” वाला गाना गाओ, मैं चला।

मैं जानता हूं कि अब तक दोनों एक हो गए होंगे। हिंदी एक भाषा ही नहीं संस्कृति है।

Missing
Deal Cadet
0
51
398
3
Alpha.Barood wrote:

Fluid rules
- Unmesh Sharma

It is an exceptionally hot summer. Time for a beer. I went to the local alcohol shop.
“Give me two bottles of chilled beer please” I said to the shopkeeper.
“Sorry sir. Dry Day. Birthday of River Ganges”.
Yes. Rivers have birthdays now. I went back the next day. “Can I have the beer now?”
He handed me two bottles. I was on my way back home. The police stopped me looking awfully serious.
“Sir. We have received intelligence that you have alcohol in your car” the police inspector said.
“Yes. But I did not consume any before I started to drive”.
“That does not matter. You are now holding a bottle within 5 km of the river Narmada. Get out of your car”.
I got out. Another constable came and murmured something into the inspector’s ears.
“Sorry sir. You can go”.
I was surprised and asked him why.
“We have just been informed that due to scanty rainfall, the river boundary has shifted around 5 meters. You are in the safe zone”.
“Phew. Thanks sir. I will go straight home and drink only there”.
“OK. Please don’t drive by MG Road. We have another check-post there. That is within 500 meters of a school. Don’t take Rajiv Chowk either. That is within 200 meters of a place of worship. You can get caught”.
“OK. So what should I do now?”
“Take SV Road for now. Also go home and download the beta version of the ‘Google Maps’ app. They now have ‘Tipple routes’. Red for traffic jam, Blue for smooth, Yellow for slow moving and Brown for the No Alcohol ‘Dry’ zone. These are now updated on a real time basis”.
I reached home and opened my bottle. Suddenly the bell rang. It was the police again.
“Now what?”
“Sir. We have received intelligence that you have alcohol in your house”.
“Yes. But I am not within 500 meters of anything and the Ganges, Narmada, Kaveri, Indus, even the bloody Mithi River is more than 5 km away”.
“Sir. Rules are rules. We have to check if you are old enough.”
I showed him my PAN card.
“Sorry sir. This won’t work. There are too many fake IDs out there. Did you know there were 4 lakh fake students in schools in UP. Please place your hand on this machine so that we can authenticate. It is all biometric now”.
I placed my right thumb on the sensor. A red light started to flash.
“Sorry sir. We will have to confiscate your beer!”
“Now what? I have complied with all the rules” I protested.
“Sir. Fresh rule was formed yesterday. Mars is in the fifth house of your Almanac. We cannot sell alcohol to anyone whose Mars is weighing on his Rahu in the fourth house”.
“How the hell do you know that?”
“Sir UID. Your ‘kundli’ is now linked to your Aadhaar card”.

@dosa
@Plato
@Navneet
@Achilles

1) boy:I love you! Will you marry me??
Girl : awwweeee…, what a pleasant surprise! Of course yes!, but what about the world? They’ll not accept our love, marriage!
Boy : chalo bhaag ke shaadi karte hai.! Everything will be alright.. We’ll stay happy thereafter.
At marriage register office)
Registerar : please sign here..( Boy & girl sign)
Registerar : please put your left thumb here for biometric verification.. It’s compulsory now.!
Boy : puts left thumb on biometric sensor (in slow motion, terrified)
Girl : puts left thumb
(Boy and girl ready to exchange maala)
Registerar : am sorry, your KUNDLI doesn’t match as per records.. Pls get lost
Boy and girl :what!! Who gave you my KUNDLI??
Registerar : Beta… Your thumb.! Aadhaar is now linked with your KUNDLI! Remember??
Boy : shots the biosenser & burns his thumb!!!

Missing
Deal Cadet
0
51
398
3

Sulabh shauchalay
Customer (in urgency) : picks a 10rs note & puts on the counter table.. Which side to go tell me fast!
Counter person : sorry sir.. We no longer accept cash payments.. Thanks to digitalindia.. You can pay by mvisa, bharatQR, Paytm, upi etc.. Check this list of accepted digital payments.
Customer (with a pressure on face, sweating badly) :ok I’ll pay by credit card. Take this..
Counter : sure sir. One moment please…
(after 2 mins) still processing..
Customer (intolerable urge) : can you do it fast. I can’t control more..
Counter: sorry sir.. Connectivity issue, the payment gateway is slow & network issues..
Customer :……

Missing